26वां सरस्वती सम्मान-2016

422
Saraswati Samman 2016
Saraswati Samman 2016

26वां सरस्वती सम्मान-2016

Saraswati Samman

सरस्वती सम्मान के. के. बिड़ला फ़ाउंडेशन द्वारा दिया जाने वाला साहित्य पुरस्कार है। यह सम्मान प्रतिवर्ष संविधान की आठवीं अनुसूची में दर्ज भाषाओं की में प्रकाशित उत्कृष्ट साहित्यिक कृति को दिया जाता है। यह कृति सम्मान वर्ष से पहले दस वर्ष की अवधि में प्रकाशित होने वाली कोई पुस्तक ही हो सकती है। इस सम्मान में शाल, प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिह्न और पांच लाख रुपये की सम्मान राशि दी जाती है।

कोंकणी के जाने-माने साहित्यकार महाबलेश्वर सैल को वर्ष 2016 के 26वें सरस्वती सम्मान के लिए चुना गया है। उनके उपन्यास ‘हाउटन’ के लिए उनको यह सम्मान दिया जाएगा। यह उपन्यास वर्ष 2009 में प्रकाशित हुआ था।

साहित्य के क्षेत्र में यह प्रतिष्ठित सम्मान के. के. बिरला फाउंडेशन की ओर से दिया जाता है। इस सम्मान के तहत 15 लाख रूपए की पुरस्कार राशि, प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह दिया जाता है।

प्रश्न-सरस्वती सम्मान से संबंधित निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए-
(1) सरस्वती सम्मान की स्थापना वर्ष 1991 में के.के. बिड़ला फाउंडेशन द्वारा की गई थी।
(2) 26वां सरस्वती सम्मान-2016 प्रसिद्ध कोंकणी साहित्यकार महाबलेश्वर सैल को प्रदत्त ।
(3) इसके तहत 7.50 लाख रुपये की राशि प्रदान की जाती है।
(4) महाबलेश्वर सैल को उनके उपन्यास ‘चित्त चेते’ के लिए प्रदत्त।
निम्न में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं-
(a) केवल 1 तथा 2
(b) केवल 3 तथा 4
(c) सभी 1,2,3 तथा 4
(d) केवल 3 तथा 4
उत्तर-(a)
संबंधित तथ्य

  • 9 मार्च, 2017 को कोंकणी भाषा के प्रसिद्ध साहित्यकार महाबलेश्वर सैल को वर्ष 2016 के 26वें सरस्वती सम्मान के लिए चुना गया।

  • उन्हें यह सम्मान उनके प्रसिद्ध उपन्यास ‘हावठण’ (Hawthan) के लिए दिया जाएगा।

  • यह उपन्यास वर्ष 2009 में प्रकाशित हुआ था।

  • पूर्व मुख्य न्यायाधीश ए.एस. आनंद के नेतृत्व वाली पुरस्कार चयन परिषद ने पुरस्कार के लिए ‘हावठण’ का चयन किया।

  • यह उपन्यास गोवा में तेजी से विलुप्त हो रहे मिट्टी के बर्तन बनाने वाले कुम्हार समुदाय की सांस्कृतिक पृष्ठभूमि पर आधारित है।

  • महाबलेश्वर को उनके लघु कथा संकलन ‘तरंगन’ के लिए वर्ष 1993 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

  • ज्ञातव्य है कि वर्ष 1991 में के.के. बिड़ला फाउंडेशन द्वारा सरस्वती सम्मान की स्थापना की गई थी।

  • यह सम्मान प्रति वर्ष संविधान की 8वीं अनुसूची में वर्णित किसी भी भारतीय भाषा में पिछले 10 वर्ष में प्रकाशित भारतीय लेखकों की उत्कृष्ट साहित्यिक कृति को प्रदान किया जाता है।

  • पुरस्कार के तहत प्रशस्ति-पत्र, स्मृति चिन्ह और 15 लाख रुपये की पुरस्कार राशि प्रदान की जाती है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here