कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं …….

10419
Dosti

दोस्ती पर हरिवंश राय बच्चन की कविता

_________________________________

….मै यादों का

किस्सा खोलूँ तो,

कुछ दोस्त बहुत

याद आते हैं….
…मै गुजरे पल को सोचूँ

तो, कुछ दोस्त

बहुत याद आते हैं….

 

_…अब जाने कौन सी नगरी में,_

_…आबाद हैं जाकर मुद्दत से….😔_
….मै देर रात तक जागूँ तो ,

कुछ दोस्त

बहुत याद आते हैं….
….कुछ बातें थीं फूलों जैसी,

….कुछ लहजे खुशबू जैसे थे,

….मै शहर-ए-चमन में टहलूँ तो,

….कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं.
_…सबकी जिंदगी बदल गयी,_

_…एक नए सिरे में ढल गयी,_😔
_…किसी को नौकरी से फुरसत नही…_

_…किसी को दोस्तों की जरुरत नही…._😔
_…सारे यार गुम हो गये हैं…_

….”तू” से “तुम” और “आप” हो गये है….
….मै गुजरे पल को सोचूँ

तो, कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं….
_…धीरे धीरे उम्र कट जाती है…_

_…जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है,_😔

_…कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है…_

_और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है …_😔
….किनारो पे सागर के खजाने नहीं आते,

….फिर जीवन में दोस्त पुराने नहीं आते…
_….जी लो इन पलों को हस के दोस्त,_😁

फिर लौट के दोस्ती के जमाने नहीं आते ….
…हरिवंशराय बच्चन

Dedicated to all freinds

Friendship

————————————————————————————-

लोग कहते हैं कि दोस्ती का रिश्ता
सबसे खूबसूरत होता है
अगर दोस्ती ही बेवफा हो जाये
तो कौन सा रिश्ता इससे बदसूरत हुआ
दोस्ती तो दो दिलों की जान होती है
एक दोस्त अगर बिछड़ जाये
तो ज़िन्दगी वीरान होती है
दोस्ती दो दिलों को जोड़ती है
वो दुःख का असर तोड़ती है
दोस्तों प्यार तो खोकर फिर भी मिल जायेगा
लेकिन खोया दोस्त दोबारा न मिल पायेगा
हमेशा बांध कर रखना दोस्ती प्रेम की डोर से
क्योंकि दोस्ती का रिश्ता सबसे अनमोल है
तन्हाई में दोस्त ही काम आता है
ख़ुशी में भी दोस्ती के साथ हाथों में जाम आता है
दोस्त को कभी न खोना तुम
दोस्त को दिल में बसाना तुम



दोस्त को भूल जाए वो हम नही,
तुम हमे  भूल जाओ इस बात में  नही,
क्यों की तुम हमे भूल जाओ इतने बुरे हम नही.

 

 

आँखों की बातें दिल की चोरी होती है,
खुदा ने जब भी पूछा दोस्त का मतलब,
हमारी उंगली आपकी ओर ही होती है

——————————————————————————–


रेत की जरूरत रेगिस्तान को होती है,
सितारों की जरूरत आसमान को होती है,
आप हमें भूल न जाना, क्योंकी
दोस्त की जरूरत हर इंसान को होती है…..
———————————————————————————-
सफ़र दोस्ती का कभी ख़त्म न होगा,
दोस्तों मेरा प्यार कभी कम न होगा,
दूर रहकर भी रहेगी महक इसकी,
हमें कभी बिछड़ने का ग़म न होगा।
——————————————————————————–
कुछ लोग भूल के भी भुलाये नहीं जाते,
ऐतबार इतना है कि आजमाये नहीं जाते,
हो जाते हैं दिल में इस तरह शामिल कि,
उनके ख्याल दिल से मिटाये नहीं जाते।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here