भारत की जलवायु : Climate of India

5709
climate of india
climate of india

भारत की जलवायु    Climate of India in Hindi

भारत की जलवायु में काफ़ी क्षेत्रीय विविधता पायी जाती है और जलवायवीय तत्वों के वितरण पर भारत की कर्क रेखा पर अवस्थिति और यहाँ के स्थलरूपों का स्पष्ट प्रभाव दृष्टिगोचर होता है। इसमें हिमालय पर्वत और इसके उत्तर में तिब्बत के पठार की स्थिति, थार का मरुस्थल और भारत की हिन्द महासागर के उत्तरी शीर्ष पर अवस्थिति महत्वपूर्ण हैं। हिमालय श्रेणियाँ और हिंदुकुश मिलकर भारत और पाकिस्तान के क्षेत्रों की उत्तर से आने वाली ठंडी कटाबैटिक पवनों से रक्षा करते हैं। यही कारण है कि इन क्षेत्रों में कर्क रेखा के उत्तर स्थित भागों तक उष्णकटिबंधीय जलवायु का विस्तार पाया जाता है। थार का मरुस्थल ग्रीष्म ऋतु में तप्त हो कर एक निम्न वायुदाब केन्द्र बनाता है जो दक्षिण पश्चिमी मानसूनी हवाओं को आकृष्ट करता है और जिससे पूरे भारत में वर्षा होती है।

कोपेन के वर्गीकरण का अनुसरण करने पर भारत में छह जलवायु प्रदेश परिलक्षित होते हैं।

जलवायु– किसी स्थान विशेष की वायुमंडलीय दशाओं को जलवायु कहते है.

मानसून– इसकी उत्त्पत्ति अरबी के “मौसिम” शब्द से हुई है जिसका शाब्दिक अर्थ है “ऋतुनिष्ठ परिवर्तन”

भारतीय जलवायु को प्रभावित करने वाले कारक-

1.भारत की स्थिति और उच्चावच

2.कर्क रेखा का भारत के मध्य से गुजरना.

3.उत्तर में हिमालय और दक्षिण में हिंद महासागर की उपस्थिति.

4.पृष्ठीय पवनें और जेट वायु धाराएँ

मानसून उत्पत्ति के कारण-

जल व थल का असमान रूप से गर्म होना .

ग्रीष्म ऋतु में थलीय भाग अधिक गर्म होते है जिससे थल में “निम्न दाब” का क्षेत्र बनता है. फलतः अधिक दाब की पवनें निम्न दाब की ओर प्रवाहित होने लगती है ये पवनें समुद्र की ओर से वर्षाजल लेकर आती है..

 मानसून सम्बन्धी तथ्य :-

1.उष्णकटिबंधीय भाग में स्थित भारतीय उपमहाद्वीप में मानसूनी प्रकार की जलवायु है.

2.मानसून मूलतः हिन्द महासागर एवं अरब सागर की ओर से भारत के दक्षिण-पश्चिम तट पर आनी वाली हवाओं को कहते हैं जो भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश आदि में भारी वर्षा करातीं हैं।

 3.भारत में मानसून के दो प्रकार है दक्षिणी-पश्चिमी मॉनसून (जून से सितम्बर, वर्षा काल )उत्तर-पूर्वी मॉनसून (दिसंबर-जनवरी, शीत काल) जिसमे से अधिकांश वर्षा दक्षिण पश्चिम मानसून द्वारा होती है ।

द.पश्चिम मानसून की दो शाखाएं है- अरब सागर शाखा (प.तट, महाराष्ट्र,गुजरात, म.प्र. आदि ) तथा बंगाल की खाड़ी शाखा (पूर्वोत्तर,बिहार, उ.प्र आदि )

4.भारत की कुल सालाना जल वर्षा का करीब 3/4 भाग मानसूनी वर्षा से प्राप्त होता है.

5.मौसम वैज्ञानिक विश्लेषण के लिए संपूर्ण भारत को 35 उपमंडलों में विभाजित किया गया है.

6.मानसून वर्षा का अधिकांश भाग वर्षा के चार महीनों जून से सितंबर (वर्षा ऋतु) के बीच होता है.

7.मानसून का अधिक प्रभाव पश्चिमी घाट तथा पूर्वोत्तर हिमालयी इलाके में होता है जबकि पश्चिमोत्तर भारत में बहुत न्यून वर्षा होती है.

 मानसून का फटना :- आद्रता से परिपूर्ण द.पश्चिमी मानसून पवन  स्थलीय भागों में पहुचकर बिजली के गर्जन के साथ तीव्र वर्षा कर देती है अचानक हुई इस प्रकार के तेज बारिश को “मानसून का फटना” कहते है.

 मानसून का परिच्छेद :- द.पश्चिम मानसून के वर्षा काल में जब एक या अधिक सप्ताह तक वर्षा नहीं होती तो इस घटना/अंतराल को “मानसून परिच्छेद” या “मानसून विभंगता” कहते है.

लू :- ग्रीष्म ऋतु में भारत के उत्तरी पश्चिमी भागों में सामान्यतः दोपहर के बाद चलने वाली शुष्क एवं गर्म हवाओ को लू कहते है इसके प्रभाव से कई बार लोगों की मृत्यु भी हो जाती है .
काल बैशाखी :- ग्रीष्म ऋतु में स्थलीय एवं गर्म पवन और आद्र समुद्री पवनों  के मिलने से तड़ित झंझा युक्त आंधी व तूफ़ान की उत्पत्ति होती है जिसे पूर्वोत्तर भारत में “नार्वेस्टर” और प. बंगाल में “काल बैशाखी” कहा जाता है.
 आम्र वृष्टि :- ग्रीम काल में कर्नाटक में स्थलीय एवं गर्म पवन और आद्र समुद्री पवनों के मिलने से जो वर्षा होती है वह आम कि स्थानीय फसल के लिए लाभदायक होती है इसलिए इसे “आम्र वृष्टि” कहते है.
चक्रवात :-  वायुदाब में अंतर के कारण जब केंद्र में निम्न वायुदाब और बाहर उच्च वायुदाब हो तो वायु चक्राकार प्रतिरूप बनती हुई (उत्तरी गोलार्ध में Anti-Clockwise) उच्च दाब से निम्न दाब की ओर चलने लगती है इसे चक्रवात कहते है.

 भारत- आकार और स्थिति  Click here

भारत का भूगोल –महत्वपूर्ण परीक्षापयोगी सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी Click here

भारतीय कृषि :125 अतिमहत्वपूर्ण प्रश्न  Click here

Climate of India in Hindi

1. भारत में कौन-सी जलवायु पाई जाती है ?

►-उष्णकटिबंधीय मानसूनी जलवायु

2. मौसम का मतलब क्या है ?

►-किसी स्थान पर एक दिन या एक हफ्ते की वायुमंडलीय अवस्था को वहां का

मौसम कहते हैं ।

3. भारत में मौसम संबंधी सेवा की शुरुआत कब हुई ?

►-1875 ई.

4. पहली बार जब भारत में मौसम संबंधी सेवा शुरु हुई तब इसका मुख्यालय कहां था ?

►-शिमला

5. प्रथम विश्वयुद्ध के बाद मौसम संबंधी सेवा का मुख्यालय शिमला से हटाकर कहां लाया गया ?

►-पुणे

6. वर्तमान में भारत का मौसम संबंधी मानचित्र कहां से प्रकाशित होता है ?

►-पुणे

7. भारत के जलवायु को मानसून के अलावे प्रभावित करने वाले कौन-से कारक हैं ?

►-उत्तर में हिमालय पर्वत और दक्षिण में हिंद महासागर ।

8. किसकी वजह से मध्य एशिया से आने वाली शीतल हवाएं भारत नहीं पहुंच पाती ?

►-हिमालय

9. किसी उपस्थिति की वजह से भारत में उष्णकटिबंधीय जलवायु अपने आदर्श रूप में पाई जाती है ?

►-हिंद महासागर

10. भारत में कितनी ऋतुएं चक्रवत पाई जाती हैं ?

►-चार- (i) शीत, (ii) ग्रीष्म, (iii) वर्षा और (iv) शरद ।

11. भारत में चक्रवत ऋतुओं बदलने की वजह क्या है ?

►–समय पर अपनी दिशा बदलना ।

12. उत्तरी भारत के मैदानी भागों में शीत ऋतु में किसकी वजह से बारिश होती है ?

►-प. विक्षोभ या जेट स्ट्रीम

13. कोरोमंडल के तट पर (तमिलनाडु) जाड़े के दिनों में बारिश की वजह क्या है ?

►- मानसून या उत्तरी-पूर्वी मानसून ।

14. गर्मी के महीने में असोम और पश्चिम बंगाल में गरज के साथ बारिश के लिए कौन-सी हवा जिम्मेदार होती हैं ?

►-तीव्र आर्द्र हवाएं

15. पूर्वी भारत में इन तीव्र आर्द्र हवाओं को क्या कहते हैं ?

►-नारवेस्टर

16. बंगाल में तीव्र आर्द्र हवाओं को क्या कहते हैं ?

►-काल वैशाखी

17. तीव्र आर्द्र हवाओं को कर्नाटक में क्या कहते हैं ?

►-चेरी ब्लास्म

18. किस हवा को चाय और कॉफी की कृषि के लिए लाभदायक माना गया है ?

►-तीव्र आर्द्र हवाएं (जिसे चेरी ब्लास्म या काल बैशाखी या नारवेस्टर के नाम से भी जाना जाता है) ।

19. आम्र वर्षा के नाम से दक्षिण भारत में किस हवा को जाना जाता है ?

►-तीव्र आर्द्र हवा

20. ‘लू’ किसे कहते हैं ?

►- ऋतु में उत्तर-पश्चिम भारत के शुष्क भागों में चलने वाली गर्म एवं शुष्क हवाओं को लू कहते हैं ।

21. मानसून गर्त क्या है ?

►-वर्षा ऋतु में उत्तर-पश्चिमी भारत और पाकिस्तान में उष्णदाब का क्षेत्र बन जाता है जिसे मानसून गर्त कहते हैं ।

22. भारत में ज्यादातर वर्षा (करीब 75%) किसकी वजह से होती है ?

►-दक्षिण-पश्चिम मानसून

23. दक्षिणी-पश्चिमी मानसून की समय-अवधि क्या है ?

►- से सितंबर तक ।

24. विश्व में सबसे ज्यादा बारिश कहां होती है ?

►-मासिनराम (मेघालय)

25. मासिनराम में कितनी बारिश होती है ?

►-करीब 1,141 सेमी.

26. मानसून प्रत्यावर्तन का काल (Retreating monsoon season) किस ऋतु को कहा जाता है ?

►-शरद ऋतु (सितंबर से दिसंबर)

27. किस ऋतु में बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में उष्ण कटिबंधीय चक्रवातों की उत्पत्ति होती है?

►-शरद ऋतु

28. दक्षिण-पश्चिम मानसून से तमिलनाडु के पश्चिमी घाट पर बारिश कम क्यों होती है ?

►-क्योंकि तमिलनाडु के पश्चिमी घाट के पर्वत वृष्टि छाया क्षेत्र में पड़ता है ।

भारत की जलवायु – सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

Climate of India in Hindi

● भारत की जलवायु की महत्वपूर्ण विशेषता क्या है— पवनों की दिशा में परिवर्तन 

● भारतीय मानसून का वर्णन सबसे पहले किस वैज्ञनिक ने किया था— अल समूदी 

● भारत की जलवायु कैसी है— उष्ण कटिबंधीय मानसूनी 

● भारत में सबसे अधिक वर्षा किस मानसून से होती हे— दक्षिणी-पश्चिमी मानूसन 

● भारत के कोरोमंडल तट पर किस माह में सबसे अधिक वर्षा होती है— अक्टूबर-नवंबर में 

● भारत के किस राज्य में दक्षिणी-पश्चिमी मानसून अधिक वर्षा नहीं होती है— तमिलनाडु 

● दक्षिणी-पश्चिर्मी मानसून किस राज्य में सबसे पहले प्रवेश करता है— केरल में 

● भारत के उत्तर-पश्चिमी भाग में शीतकालीन वर्षा किस कारण से होती है— पश्चिमी विक्षोभ के कारण 

● भारत में सबसे अधिक वर्षा कहाँ होती है— मासिनराम 

● मासिनराम और चेरापूँजी में सबसे अधिक वर्षा का क्या कारण है— पहाड़ियों की कीप की तरह आकृति 

● भारत में शीतकालीन वर्षा कहाँ होती है— तमिलनाडु और ओड़िशा 

● वर्षा की सबसे अधिक विरलता कहाँ पायी जाती है— लेह में 

● यदि भारत में कर्क रेखा के स्थान पर विषुव्त रेखा होती तो जलवायु कैसी होती— अधिक ताप व अधिक वर्षा 

● भारत में औसतन वर्षा कितनी होती है— 118 सेमी 

● मानसूनी जलवायु की क्या विशेषता है— वायु की दिशा में मौसमी परिवर्तन होना 

● भारत के किन क्षेत्रों में 200 मिमी वर्षा होती है— जम्मू-कश्मीर में 

● आम्र वर्षा क्या है— बिहार और बंगाल में मार्च व अप्रैल में होने वाली वर्षा 

● भारत में सबसे कम वर्षा कहाँ होती है— कच्छ से पंजाब हरियाणा तक 

● दक्षिण-पश्चिम मानसून से भारत को कुल कितनी वर्षा मिलती है— 75% 

● ग्रीष्म काल में आने वाले तूफानों को किस राज्य में ‘काल बैसाखी’ कहा जाता है— पश्चिमी बंगाल में 

● चेन्नई में शीतकालीन वर्षा किस मानसून से होती है— उत्तरी-पूर्वी मानसून से 

● मानसून निवर्तन में सबसे अधिक वर्षा कहाँ होती है— दिल्ली 

● भारत के पश्चिमी समुद्री तट पर वर्षा किस मानसून से होती है— दक्षिणी-पश्चिमी मानूसन 

● किस राज्य में प्रत्यावर्ती मानसून का प्रभाव होता है— तमिलनाडु में 

● ‘मानसून’ किस भाषा का शब्द है— अरबी 

● भारत के किस राज्य में उत्तरी-पूर्वी मानसून से वर्षा होती है— तमिलनाडु में 

● पूणे में मुंबई से कम वर्षा क्यों होती है— वृष्टि छाया के कारण 

● भारत में अधिक वर्षा होते हुए भी देश की धरती प्यासी क्यों समझी जाती है— वर्षा के पानी का बहाव तेज होना व वर्षा का थोड़ा समय होना 

● भारत का अधिकांश भाग कर्क रेखा के उत्तर में स्थित है। इसे उष्णकटिबंधीय देश कहने का कारण क्या है— देश की जलवायु का निर्धारण उष्ण कटिबंधीय मानसून से होना 

● अरब सागर से आने वाले मानसून सबसे पहले किस राज्य में प्रवेश करते हैं— केरल में 

● मानसून द्वारा लाए गए आर्द्रता का कितना भाग बंगाल की खाड़ी से आता है— 35% 

● किस मानसून के कारण भारतीय उपमहाद्वीपीय पर ग्रीष्मऋतु में उच्च तापामान एवं निम्न दाब हिन्द महासागर में वायु का कर्षण होता है— दक्षिणी-पश्चिमी मानसून 

सामान्य ज्ञान, करेन्ट अफेयर व सरकारी नौकरी के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें

https://www.facebook.com/groups/1473968439335108/

 

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here